• मनीष

जन सहयोग से ही एकल उपयोग प्लास्टिक के इस्तेमाल को रोका जा सकता है - गौतम

मनीष {द शिर्गुल टाइम्स}

उपायुक्त सिरमौर राम कुमार गौतम ने कहा कि एकल उपयोग प्लास्टिक के इस्तेमाल को लोगों के सहयोग से ही रोका जा सकता है। उन्होंने कहा कि एकल उपयोग प्लास्टिक के इस्तेमाल को रोकने के लिए जिला में 15 जुलाई से 15 अगस्त 2022 तक प्लास्टिक से मुक्ति अभियान चलाया जाएगा। उपायुक्त आज यहां आयोजित प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे।

उन्होंने बताया कि इस अभियान के तहत सभी उपमण्डल दण्डाधिकारी अपने संबंधित उपमण्डल में दुकानों और प्रतिष्ठानों में एकल उपयोग प्लास्टिक के इस्तेमाल को लेकर जाँच करेंगे और दोषियों के विरुद्ध कार्रवाई करेंगे। उन्होंने बताया कि दोषी पाए जाने पर हिमाचल प्रदेश नॉन-बायोडिग्रेडेबल कचरा (नियंत्रण) अधिनियम, 1995 के प्रावधानों के तहत कारवाई की जाएगी। उन्होंने बताया

कि 01 जूलाई 2022 से एकल उपयोग प्लास्टिक के इस्तेमाल पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगाया गया है जिसमें नाॅन वूवन कैरी बैग को भी शामिल किया गया है। उन्होंने बताया कि इन प्रतिबंधित चीजों में प्लास्टिक की छड़ियों के साथ कान की कलियां (इयर बड्स), गुब्बारों के लिए प्लास्टिक की छड़ें, प्लास्टिक के झंडे, कैंडी की छड़ें, सजावट के लिए पॉलीस्टाइरीन (थर्मोकोल) की सजावटी सामग्री, प्लेटें, कप, गिलास, कटलरी जैसे कांटे, चम्मच, चाकू, मिठाई के बक्से के चारों ओर फिल्म लपेटना या पैकिंग करना, निमंत्रण कार्ड और सिगरेट के पैकेट, 100 माइक्रोन से कम के प्लास्टिक या पीवीसी बैनर व स्ट्रिरर इत्यादि सामग्री शामिल हैं।

उपायुक्त ने नगर पालिका नाहन, पांवटा साहिब व नगर पंचायत राजगढ़ को अपने क्षेत्रों में और पर्यटन स्थलों पर एकल उपयोग प्लास्टिक के इस्तेमाल की जांच करने के निर्देश दिए और बिखरे पडे प्लास्टिक के कचरे का सही तरीके से निष्पादन करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि नगर पालिका व नगर पंचायत क्षेत्र में जहां भी कचरा पडा है उसे ग्रामिण विकास विभाग की सहायता से निष्पादन करने के निर्देश दिए। उन्होंने क्षेत्रिय परिवहन अधिकारी नाहन को टैक्सी व बस संचालकों को वाहनों में ही कचरे को एकत्र कर बाद में उसका सही निष्पादन करने की दिशा में जागरूक करने को कहा।

क्षेत्रीय अधिकारी प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड पवन शर्मा ने बैठक में मदों को क्रमवार प्रस्तुत किया।

1 view0 comments