top of page
  • Writer's pictureKAVI RAJ CHAUHAN

सिरमौर कल्याण मंच ने मनाई डॉक्टर परमार जयंती

कविराज चौहान,


द शिरगुल टाइम्स (सोलन),


परमार के पौत्र आनंद परमार ने भी की कार्यक्रम में शिरकत


सिरमौर कल्याण मंच सोलन ने शुक्रवार को हिमाचल निर्माता एवं प्रदेश के प्रथम मुख्यमंत्री स्व.डा.यशवंत सिंह परमार की 117वीं जयंति हर्षोल्लास के साथ मनाई। सर्वप्रथम मंच के सदस्यों एवं विभिन्न राजनीतिक दलों के लोगों ने मालरोड़ स्थित चिल्ड्रन पार्क में स्थापित हिमाचल निर्माता डा.यशवंत सिंह की मूर्ति पर माल्यापर्ण किया। श्रद्धांजलि कार्यक्रम में नगर निगम सोलन की महापौर पूनम ग्रोवर ने मुख्यातिथि के रूप में भाग लिया। जबकि निगम के उप महापौर राजीव कौड़ा ने विशिष्ट अतिथि के रूप में भाग लिया।


सिरमौर कल्याण मंच सोलन के अध्यक्ष बलदेव चौहान की देखरेख में सभी ने हिमाचल निर्माता डा.यशवं सिंह को चिल्ड्रन पार्क में भावभिनी श्रद्धांजलि अर्पित की। कुछ देर के लिए सोलन का चिल्ड्रन पार्क डा.वाईसएस परमार अमर रहे के नारों से गुंज्यमान होता रहा। तदोपरांत मंच की ओर से नगर निगम के सभागार में विचार गोष्ठी एवं रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया। सिरमौर कल्याण मंच की तरफ से इस डा.परमार जयंति पर 22वें रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया।

रक्तदान शिविर को आरएनवी प्रोजैक्ट्स प्राइवेट लिमिडिट दिल्ली के एमडी रवि मदान द्वारा प्रायोजित किया गया था।

इस कार्यक्रम में एमडी रवि मदान ने मुख्यातिथि के रूप में भाग लिया। जबकि ऑप्टिमाइज मीडिया गुडगांव के एमडी एचआर विपिन वाशिष्ठ ने विशिष्ट अतिथि के रूप में उपस्थित रहे। प्रयोजकों की ओर से सभी रक्तदाताओं को एक किलो देसी घी का डब्बा सप्रेम भेंट किया। इस मौके पर डा.एसएस परमार की तरफ से सभी रक्तदाताओं को सप्रेम बैग भेंट किए। डा.वाईएस परमार जयंति पर 60 यूनिट खून दान किया गया।

क्षेत्रीय अस्पताल सोलन की ब्लड बैंक टीम ने रक्तदान के इस कार्यक्रम के सफल आयोजन में सराहनीय भूमिका निभाई है। कार्यक्रम के तीसरे सत्र में नगर निगम सोलन के सभागार में विचार गोष्ठी का आयोजन किया गया। इसमें उपायुक्त सोलन मनमोहन शर्मा ने मुख्यातिथि के रूप में शिरकत की। जबकि डा.वाईएस परमार के पोते एवं जिला सिरमौर कांग्रेस के अध्यक्ष आनंद परमार विचार गोष्ठी में विशिष्ट अतिथि के रूप में उपस्थित हुए। स्व.डा. वाईएस परमार के पड़पौत्र यशस्वी सिंह परमार भी मौजूद रहे।


विचार गोष्ठी में भाग लेने पहुंचे विभिन्न राजनीतिक दलों के नेताओं विभिन्न सामाजिक संस्थानों के पदाधिकारियों ने डा.यशवंत सिंह परमार के बहुआयामी जीवन से जुड़े संस्मरणों को रखा। साथ ही हिमाचल प्रदेश के निर्माण में उनके योगदान को याद किया। इस मौके पर उपायुक्त सोलन मनमोहन शर्मा ने कहा कि डा.वाईएस परमार बहुआयामी प्रतिभा के धनी थे। उन्होंने कहा कि जिस हिमाचल प्रदेश की तस्वीर हम सभी के सामने हैं उसे मूर्त रूप देने में डा.परमार का बहुत बड़ा योगदान रहा है,जिसे कभी भूलाया नहीं जा सकता। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री रहते हुए डा.वाईएस परमार ने विषम परिस्थितियों में पॉलेंडरी इन हिमालयाज पुस्तक का सृजन किया हैं जो उनकी साहित्य के प्रति रूचि को इंगित करती हैं। उन्होंने कहा कि उनकी सादगी और दूरदर्शी सोच को आज की युवा पीढ़ी को आत्मसात करने की जरूरत है। मनमोहन शर्मा ने कहा कि एक राज्य के रूप में हिमाचल की नीतियों को परिभाषित करने,प्रदेश के विकास को गति देने और राज्य के ईमानदार एवं कर्मठ लोगों के साथ मिल कर विकसित हिमाचल की नींव रखने के लिए प्रदेश के प्रथम मुख्यमंत्री एवं हिमाचल निर्माता स्व.डॉ.यशवंत सिंह परमार को सदैव याद रखा जाएगा।

उन्होंने कहा कि यह हर्ष का विषय है कि सिरमौर कल्याण मंच हर वर्ष हिमाचल निर्माता डा.यशवंत सिंह परमार की जयंती को भव्य रूप में आयोजित करता है। उन्होंने कहा कि इस माध्यम से युवा पीढ़ी को हिमाचल निर्माता की परिकल्पना,सोच और उनके जीवन के बारे में जानने का अवसर मिलता है। उन्होंने कहा कि हमारा प्रदेश भौगोलिक रूप से पूरी तरह जुड़ा हुआ नहीं था। डा.परमार की दूरगामी सोच के कारण ही हिमाचल एक हो पाया। उन्होंने कहा कि वर्तमान हिमाचल में पर्यटन,उद्योग, सडक़, विद्युत परियोजनाओं के विकास की नींव डॉ यशवंत सिंह परमार ने रखी थी।


हिमाचल प्रदेश को अग्रणी राज्य बनाने में डा.परमार की महत्वपूर्ण भूमिका है। मनमोहन शर्मा ने कहा कि स्व.डॉ. परमार ने हिमाचल प्रदेश की पहाड़ी बोली के संरक्षण के लिए कार्य किया। उन्होंनेडा.परमार के साथ रहे वरिष्ठजनों से आग्रह किया कि अपने अनुभवों को किताब या वृतचित्र के रूप में सहेजें ताकि युवा पीढ़ी को उनके व्यक्तित्व के बारे में अवगत करवाया जा सके। मनमोहन शर्मा ने इस मौके पर स्व.डा.यशवंत सिंह परमार के चित्र पर पुष्पांजलि भी अर्पित की। नगर निगम सोलन के आयुक्त जफर इकबाल ने इस अवसर पर हिमाचल निर्माता को श्रद्धाजंलि अर्पित करते हुए कहा कि मुश्किलभौगोलिक परिस्थितियों वाले प्रदेश को विकास की डगर पर आगे बढ़ाकर स्व.डा.परमार ने सभी के लिए अनुकरणीय उदाहरण प्रस्तुत किया।

इसके अलावा नगर निगम सोलन की महापौर पूनम ग्रोवर, उपमहापौर राजीव कौड़ा, पार्षद सरदार सिंह ठाकुर, जिला कांग्रेस के अध्यक्ष शिव कुमार,प्रदेश कांग्रेस समिति के महासचिव सुरेन्द्र सेठी, नगर परिषद सोलन के पूर्व अध्यक्ष कुल राकेश पंत,वरिष्ठ कांग्रेस कार्यकर्ता जगमोहन मल्होत्रा, लक्ष्मीदत्त शर्मा,पीडी भारद्वाज,रवि मदान विजय कुमार, प्रो.टीडी वर्मा, डा.बीएस पंवार,चंद्रमोहन शर्मा, कुलराजीव पंत, कौमुदी ढल,रणधीर पंवर,केवल ठाकुर, श्याम लाल ने विचार गोष्ठी में भाग लिया और अपने विचारों को रखा। इस दौरान हेमंत अत्रि अर्शिता कंवर आदि ने कविताओं के माध्यम से डा.परमार को श्रद्धांजलि अर्पित की।


इस मौके पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक बद्दी रमेश शर्मा, सिरमौर कल्याण मंच के अध्यक्ष बलदेव चौहान,उपाध्यक्ष पदम पुंडीर,महासचिव राम गोपाल शर्मा,वरिष्ठ उपाध्यक्ष प्रदीप ममगई,वरिष्ठ उपाध्यक्ष वीरेन्द्र कंवर,डा.एसएस परमार,पदम पुंडीर,विनय भगनाल,यशपाल कपूर,दर्शन सिंह फौजी,अक्षय चौहान,जयचंद सहित अन्य गणमान्य व्यक्ति एवं स्थानीय निवासी इस अवसर पर उपस्थित थे।

56 views0 comments

Commentaires


bottom of page