top of page
  • Writer's pictureKAVI RAJ CHAUHAN

सिरमौर के लोगों से कुशल जेठी ने मांगी माफी


-24 घंटे में ही बयान से पलटे प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता कुशल जेठी

- कहा मेरी नहीं थी ऐसी मंशा

हिमाचल प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता कुशल जेठी ने शनिवार को पत्रकारवार्ता के दौरान सिरमौर के लोगों पर एक विवादित बयान दिया था, जिससे पूरे सिरमौर के लोगों को गुस्सा सातवें आसमान पर आ गया। इस मामले के तूल पकडऩे के कारण प्रेस कॉन्फ्रेंस से कुछ ही घंटे बाद कुशल जेठी ने फिर एक वीडियो क्लिप जारी किया, जिसमें उन्होंने अपने बयान पर माफी मांगी, लेकिन इससे भी सिरमौर के लोगों का रोष खत्म नहीं हुआ। इसके बाद रविवार को दोपहर एक बजे कुशल जेठी ने फिर से सोलन के रेस्ट हाउस में पत्रकारवार्ता रखी और फिर से सिरमौर के लोगों से माफी मांगी।

सिरमौर हिमाचल का ताज

प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता कुशल जेठी ने कहा कि उनकी मंशा सिरमौर के लोगों की भावनाओं को आहत करने की नहीं थी। उन्होंने कहा कि हिमाचल के गठन में सिरमौर के योगदान को कौन भूल सकता है। सिरमौर प्रदेश का ताज है और सिरमौर ने हिमाचल निर्माता डॉ. यशवंत सिंह परमार सरीके नेता दिए, जिन्होंने हिमाचल प्रदेश को बनाया। ऐसे में पार्टी के एक कार्यकर्ता कैसे सिरमौर को लेकर कुछ कह सकता है, जो भी उन्होंने कहा वह समस्त सिरमौर वासियों से उसके लिए माफी मांगते हैं। यदि इससे किसी को ठेस पहुंची है तो उसके लिए भी वह माफी मांगते हैं।

क्या कहा था जेठी ने

शनिवार को सोलन में पत्रकारवार्ता के दौरान प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता प्रदेश सरकार द्वारा ओल्ड पेंशन स्कीम लागू होने के बाद प्रदेश में काबिज कांग्रेस सरकार व सीएम सुखविंद्र सिंह सुक्खू की तारीफों के पुल बांध रहे थे। इसी दौरान उन्होंने कहा कि अब तो नाहन के लोग भी समझ गए और इस बार उन्होंने सही निर्णय लिया और विधायक को चेंज किया। इसी दौरान उन्होंने कह डाला कि सिरमौर के लोगों को समझ देरी से आती है। साथ ही पहाड़ी प्रदेश में बूढ़ी दीवाली पर भी तंज कस दिया। उनके निशान पर वरिष्ठ भाजपा नेता व नाहन के पूर्व विधायक डॉ. राजीव बिंदल थे। इसमें सिरमौर विरोधी बयान आग की तरह वायरल हो गया। मामला बिगड़ता देख कुशल जेठी ने शनिवार शाम को ही अपनी दुकान से एक वीडियो क्लिप जारी कर अपने बयान पर माफी मांगी, लेकिन मामले की गंभीरता को देखते हुए उन्होंने रविवार को दोबारा प्रेस कॉन्फ्रेंस कर फिर से अपने बयान पर माफी मांगी। सिरमौर कल्याण मंच सोलन ने भी इस बयान की भत्र्सना की थी और इस मामले में शीघ्र प्रेस कॉन्फ्रेंस कर माफी मांगने की बात कही थी। सिरमौर कल्याण मंच के प्रधान बलदेव चौहान ने कहा कि सिरमौर के खिलाफ किसी भी विवादित बयान को सहन नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि हिमाचल में सिरमौर का इतिहास गौरवमयी रहा है और सिरमौर की समृद्ध सांस्कृतिक विरासत भी है।

36 views0 comments

留言


bottom of page