• मनीष

सिरमौर में होगा जिला स्तरीय लोक संगीत प्रतियोगिता का आयोजन, 4 अगस्त तक करवाएं पंजीकरण

मनीष {द शिर्गुल टाइम्स}

जिला स्तरीय विजेता को राज्यस्तरीय लोक संगीत प्रतियोगिता में भाग लेने का मिलेगा मौका

- हिमाचल सरकार लोक संगीत को बढ़ावा देने के लिए भाषा एवं संस्कृति विभाग के माध्यम से सिरमौर में जिला स्तरीय एकल लोक संगीत प्रतियोगिता का आयोजन होगा जिसमें सिरमौर जिला से संबंध रखने वाले लोक कलाकार भाग ले सकते हैं। यह जानकारी जिला भाषा अधिकारी कांता नेगी ने दी।

उन्होंने बताया कि जिला स्तरीय लोक संगीत प्रतियोगिता का आयोजन अगस्त माह में किया जाएगा। जिला स्तर पर विजेता लोक गायक को 11 हजार की राशि दी जाएगी और उसे राज्य स्तर पर आयोजित होने वाली प्रतियोगिता में भाग लेने का अवसर मिलेगा। उन्होंने बताया कि राज्य स्तर पर आयोजित होने वाले लोक संगीत प्रतियोगिता में विजेता को 31 हजार की राशि दी जाएगी। उन्होंने बताया कि इच्छुक कलाकार 4 अगस्त 2022 शाम 5 बजे तक जिला भाषा अधिकारी कार्यालय दूरभाष नंबर 01702-223115 पर संपर्क कर पंजीकरण करवा सकते हैं। प्रतियोगिता में केवल पंजीकृत कलाकार को ही प्रतिभागी के रूप में भाग लेने की अनुमति होगी। पंजीकरण के समय आयु एवं स्थाई निवास के सत्यापन हेतु कलाकार को सम्बंधित प्रमाण पत्र देना होगा।

कांता नेगी ने बताया कि यह प्रतियोगिता दो आयु वर्ग में आयोजित होगी। 16 वर्ष तक की आयु के कलाकार कनिष्ठ वर्ग में तथा 16 वर्ष से अधिक आयु के कलाकार वरिष्ठ वर्ग की प्रतियोगिता में भाग ले सकेगे। जबकि प्रतियोगिता भी दो श्रेणियों में आयोजित होगी। पहली श्रेणी में विशुद्ध लोकसंगीत से जुडे कलाकार भाग ले सकेगे जबकि दूसरी श्रेणी में समकालीन व आधुनिकता लिए हुए विलयात्मक लोक गायक भाग ले सकेगें। विशुद्ध लोकसंगीत की श्रेणी का विषय सामान्य जीवन से लेकर इतिहास, धर्म, पुराण, प्रेम, वीर गाथाओं, देवस्तुतियों, ऋतुप्रभात और सामाजिक बंधनों, सामाजिक उत्सवों आदि से सम्बंधित है।

उन्होंने बताया कि विशुद्ध लोक संगीत पर आधारित प्रतियोगिता में प्रतिभागियों से अपेक्षा रहेगी कि वे लोकसंगीत की मौलिकता को प्राथमिकता दें तथा जिस प्रकार लोकसंगीत परम्परागत रूप से गाया या बजाया जाता है उसी रूप में इसे प्रदर्शित करें। जबकि समकालीन व आधुनिकता लिए हुए विलयात्मक लोकसंगीत की श्रेणी में ऐसे लोकसंगीत को रखा जाएगा जिसमें परम्परागत लोकसंगीत के साथ-साथ आधुनिक संगीत का विलय हो।

प्रतियोगिता में प्रतिभागी को किसी भी प्रकार का यात्रा भत्ता दैनिक भत्ता, ठहरने आदि की कोई भी व्यवस्था नहीं होगी। मात्र विजेता प्रतिभागियों को पुरस्कार राशि प्रदान की जाएगी।

18 views0 comments